Real Jinnat Ki Story – पेड़ पर जिन्नात

Real Jinnat Ki Story

दोस्तो आज की हमारी कहानी एक Real Jinnat Ki Story है जो हमे हमारे Subscriber Raj ने हमे भेजी है दोस्तो कहानी अछि लगे तो शेयर जरूर करे और आज हमने ये कहानी पूरी हिंदी में लिखी है अगर  आपका Response अच्छा रहा तो अब से हम अपनी कहानिया पूरी हिंदी मैं ही लिखा करेंगे

Real Jinnat Ki Story – पेड़ पर जिन्नात

Real Jinnat Ki Story
Real Jinnat Ki Story

दोस्तो मेरा नाम नीलेश शर्मा है और में पैसे से एक छोटा शार्ट फिल्मों का डायरेक्टर हु । मेने अपनी जिंदगी में बहोत सारि जगह पर जाकर शूटिंग है । लेकिन आज जो मैं आपको कहानी सुनाने जा रहा हु वो कहानी आपके रोंगटे खड़े लर देगी ।

दोस्तो यह बात तब की है जब मैं अपनी टीम के साथ एक हॉरर सीन शूट करने के लिए गुरुगांव से लगभग 20 किलोमीटर दूर एक पुराने खण्डहर मैं गया वहां हमें रात का सीन शूट करना था तो हमने लगभग रात के 9:00 बजे जाकर सेटअप लगाया ।

हमारी टीम में लगभग 8 जने थे जिसमें से 4 एक्टर रमेश , राकेश , सलीम , ओर सुमंत , तथा 2 हेल्पर बॉय भी थे और एक कैमरा मैन संतोष कुमार जी।
दोस्तो जैसे ही हम वहां पर पहुंचे हमे थोड़ा डर जैसा महसूस हुआ लेकिन हमारा तो यह रोज का काम था तो हमने बिना कुछ सोचे समझे अपने काम मे लग गए ।

हमे पहला शॉट छत के ऊपर से लेना था लेकिन दिकत यह आ रही थी कि छत के ऊपर एक पेड़ की बहुत सारी टहनियाँ और डालियाँ आई हुई थी जिसके कारण हमें कैमरा सीन शूट करने में परेशानी हो रही थी तो मैने अपने हेल्पर बॉय से कहा कि यह आगे वाली टहनियां थोड़ी-थोड़ी काट दी जाए तो हमारा काम हो सकता है

उस काम मे हम सभी लग गए ताकि जल्दी-जल्दी से हटा के हम अपना काम जल्दी कर सके इससे आगे जो हमारे साथ हुआ वो वाकई हैरान कर देने वाला था जैसे ही हम पेड़ की टहनियां काटने लगे इतने में सलीम अजीब अजीब हरकते करने लगा , सलीम थोड़ा मजाकिया था

तो हमने सोचा वो मजाक कर रहा होगा तो हमने अपना काम जारी रखा लेकिन थोड़ी देर बाद सलीम छत के ऊपर से नीचे कूद गया छत की ऊंचाई ज्यादा तो नही थी लेकिन हम सब यह देखके बहोत डर गए हम सब सलीम को सम्भालने नीचे जाने लगे तो इतने में सलीम वापस से छत पर आया और फिर कूद गया हम कुछ समझ पाते इतने में सलीम बार बार यह दोहराने लगा ।

हम सब बहोत ज्यादा डर गए थे इतने में हमारे कैमरा मेन शान्तोष जी ने सलीम को पकड़ा और ऐसा करने को मना किया तो सलीम ने झटके से हाथ छुड़वा के एक डंडा उठाया और हम सब पर हमला कर दिया जिस जिस ने पेड़ की टहनियां काटी थी उन पर हमला कर दिया और डंडो से पीटने लगा

हमे ज्यादा चोट तो नही आई लेकिन हम सब बहोत ज्यादा डर गए थे और थोड़ा-थोड़ा समझ में आने लग गया था की क्या हो रहा है ।हम सब मे से संतोष जी ने पेड़ की टहनी नही काटी थी तो उसने शान्तोष जी को हाथ भी नही लगाया । शान्तोष जी हम सब मे से समझदार भी थे और हम सब से बड़े भी थे

तो उन्होंने कहा कि यह को भूत प्रेत का चक्र है इतने में सलीम बेहोश होकर नीचे गिर पड़ा उसको बहोत चोटें आयी हम उसे तुरंत ही हॉस्पिटल ले जाने लगे लेकिन तभी शान्तोष जी ने कहा नही पहले इसको यहाँ से 6 किलोमीटर दूर श्री हनुमान जी का मंदिर है

वहाँ ले जाया जाए हमारे पास एक वैन थी हमने सलीम को उठाकर उस वैन में डालना चाहा लेकिन सलीम हम चार जनो से भी नही उठ पा रहा था उसका वजन ज्यादा तो नही था लेकिन फिर भी उठ नही पा रहा था फिर हमने उसे जैसे तैसे करके वैन में डाला और मंदिर लेकर पहुंचे मंदिर जाते ही पंडित जी ने सलीम पर भभूत ओर पानी के छींटे मारे तो सलीम होश में आया और एक दम सही हो गया हमने जब उससे पूछा कि क्या होगया था तो उसने कहा मुझे कुछ नही पता उसको कुछ भी याद नही था ।

फिर हमें पंडित जी ने बताया कि जहां हम शूटिंग कर रहे थे वहां उस पेड़ पर एक बहोत खतरनाक जिन्न का साया है जो कोई भी उस पेड़ को नुकसान पहुंचाने की कोशिश करता है उसको वो डंडो से मरता है ओर जो पेड़ को नुकसान नही पहुंचता उसके वो कुछ नही करता हमे वापस जाकर पैकिंग भी करनी थी लेकिन हमारी हिम्मत नही हो रही थी

फिर पंडित जी ने हमे हनुमान जी की भभूत ओर पानी दिया और कहा कि अब जाओ और पेकिंग कर लाओ पेड़ को कुछ नुकसान पहुंचाने की कोशिष मत करना । फिर हम गए और जल्दी से पैकिंग की ओर वहां से आगये यह सब हमारे लिए बहोत भयानक था ।

दोस्तो इस कहानी से एक बात तो साफ है कि वो जिन्न हम लोगो को नुकसान नही पहोचाना चाहता था लेकिन हमारी एक गलती की वजह से उस जिन्न ने ऐसा किया वो जिन्न चाहता तो हमने मार भी सकता था लेकिन उसने सिर्फ अपने होने से सबूत दिया दोस्तो हमे यहे ध्यान रखना चाहिए कि कुछ पेड़ ऐसे होते है जिनमें ऐसी ही अच्छी और बुरी आत्माओं का वास होता है हमे इन्हे नुकसान नही पहोचाना चाहिए

दोस्तो आपको Real Jinnat Ki Story अछि लगी हो तो Like Share And Comment करना ना भूले और अगर आपके पास भी कोई ऐसी ही कहानी है तो आप हमें भेज सकते है  हमारा पता है

Email – horrorstoryinhindi76@gmail.com

summry
Review Date
Reviewed Item
Real Jinnat Ki Story - पेड़ पर जिन्नात
Author Rating
51star1star1star1star1star

Leave a Reply