Horror Stories Hindi 2 सच्ची घटनाओं पर आधारित

Horror stories hindi
Horror stories hindi

Horror Stories Hindi 2 सच्ची घटनाओं पर आधारित Horror Stories Hindi

मैं गुजरात के जामनगर का रहने वाला हु एक बार मेरे साथ एक बहुत ही अजीब सी घटना हुई थी में जामनगर से बिहार जा रहा था पोरबन्दर to मुजफरपुर वाली ट्रेन से गुजरात से  बिहार जाने में 3 दिन लगते हैं Horror Stories Hindi.Horror Stories Hindi.Horror Stories Hindi.Horror Stories Hindi.Horror Stories Hindi.

Horror stories hindi
Horror stories hindi

पहला दिन तो अच्छे से निकल गया फिर दूसरे दिन दोपहर में ट्रेन में सब लोग सो रहे थे में दरवाजे के पास जाकर खड़ा हो गया तभी वहां 2 औरते आयी ओर मुझे देखकर हँसने लगी वो मेरी तरफ घूरते हुए आपस मे कोई बात कर रही थी Horror Stories Hindi

उस एक औरत ने दूसरी को बोला की चलो हमारा काम तो हो गया फिर रात में करीब 9 बजे में फिर वही ट्रेन के दरवाजे पर जाकर खड़ा हो गया ट्रेन बहोत तेज़ चल रही थी में वहा खड़ा ही थी कि किसीने मेरा हाथ खींच लिया में हवा में उड़ता हुआ जोर से किसी सुनसान खेत मे जाकर गिरा ओर उसी वक़्त मेरी आँख खुल गई में सपना देख रहा था Horror Stories Hindi

मेने देखा कि में तो अपने घर गुजरात मे ही हु मेने मम्मी से ट्रेन के बारे में पूछा तो मम्मी बोली क्या सुबहें से ट्रेन ट्रेन लगा रखा है ट्रेन आज श्याम 6 बजे की है मुझे यकीन था कि मैने जरूर कोई सपना देखा है श्याम को ट्रेन में पहुचा ओर अपनी सीट पर बैठ तो देखा कि ट्रेन में बैठे लोग तो वही थे जो मेने दिन में सपने में देखे थे Horror Stories Hindi

मुझे डर लगने लगा मेने सोच लिया की में ट्रेन कर दरवाजे पर नही जाउगा रात में, में खाना खा कर सो गया एक बजे हम अहमदाबाद स्टेशन पहुच गए अहमदाबाद स्टेशन पर ट्रेन आधे घंटे तक रुकती है मेने सोच नींद तो आ नही रही स्टेशन पर जाकर गुटखा खा कर आता हूं Horror Stories Hindi

स्टेशन पर तो बहोत सारे लोग होंगे वहा क्या डरना में नीचे उतरकर एक बैंच पर जाकर बैठ गया लेकिन वहां बैठे – बैठे पता नही कब नींद आ गयी आँख खुली तो मैने देखा कि में अहमदाबाद स्टेशन नही बल्कि किसी गाँव के छोटे से स्टेशन पर बैठ हु मेने आसपास देखा तो वह बहुत अंधेरा था में बहुत ज्यादा डर गया ओर तभी मुझे दो औरते दिखाई दी वो दोनों मेरी तरफ ही आ रही थी

उनको देख कर में बहुत ज्यादा डर गया लेकिन मुझे पता था की ये भी एक सपना ही है इसीलिए में सामने से आती हुई ट्रेन के आगे कूद गया ट्रेन मेरे ऊपर से गुजर गई में वही लेता हुआ था वो दोनों औरते आयी और बोली चलो हमारा काम तो हो गया ये सुनते ही फिर से मेरी आँख खुल गयी में अपने घर मे ही था मुझे तो समझ ही नही आ रहा था Horror Stories Hindi

कि ये हो क्या रहा है मेने अपने दोस्त को ये बात बताई तो उसने मेरी बात पर यकीन कर लिया ओर कहा कि तू अपनी टिकट Cancel करवाले में तेरे साथ चलूँगा बस मेरे आने की टिकट के पैसे तू देदियो में मान गया ओर उसी ट्रेन की टिकट बुक करवाली, अहमदाबाद स्टेशन पर उतरकर मेने उसको वही बैंच दिखाई जिसपर में बैठा था ओर बैंच पर वो ही चाचा बैठे थे

जो मेने देखे थे ये देखकर हम दोनो डर गए ओर जल्दी से ट्रेन में जाकर बैठ गए उसके बाद कुछ नही हुआ लेकिन फिर रात में 9 बजे में washroom गया ओर जैसे ही में वापिस आ रहा था तभी मुझे दरवाजे से किसीने खीच लिया ओर पहले की तरह खेत मे पटक दिया मेरी आँख फिर से खुली इस बार मे ट्रेन में ही था Horror Stories Hindi

मेने साथ बैठे आदमी से पूछा की हम कह है तो उसने बताया कि हम 5 घंटे में मोतिहारी पहुँच जाएंगे उसने बताया कि आप कल रात ऐसे ही सोये हुऐ हो पी रखी थी क्या वहा पहुचने के बाद में एक हनुमान मंदिर में गया ओर उसके पंडित को सबकुछ बताया उन्होंने मुझे एक माला दी ओर उसके बाद सब कुछ ठीक हो गया ये बात एक हफ्ते पहले की ही, है Horror Stories Hind

          Story2 Horror Stories Hindi

 

में भारत के पश्चिम बंगाल राज्य में कोलकाता के एक शहर का निवासी हूं। यह एक बहुत अजीब तथ्य है जो मैंने अपने घर के बारे में सुना है। एक मार्शलैंड पर बनाया गया एक बिल्कुल नया घर, यह घर लगभग 7 साल पुराना है। मेरे पिता जी ने इस घर को अपनी खुद की देख रेख मैं घर को बनवाया था। तब ऐसी कोई अजीब बात नहीं थी। Horror Stories Hindi

मैंने उस घर में अकेले कई रात टीवी देखी थी या कभी-कभी बियर पीता था। मैं बहुत सामान्य आदतों के साथ एक सुंदर सामान्य लड़का हूँ। जिस रात की में बात कर रहा हूं वह 10जून, 2006 की है – कॉलेज में मेरे दूसरे सेमेस्टर के लिए मेरी प्रोग्रामिंग language (visual C++) के पेपर से एक रात पहले। कॉलेज में जाने के बाद मैं हमेशा एक group में ही रहता था और चूंकि मेरा घर बहुत बड़ा था, मेरे दोस्त मेरे घर पर आते थे, हम साथ ही रहते थे और पढ़ते थे।

उस रात हम 5 दोस्त थे – सौरव, अर्नव दास, अरिजीत, जयदीप और मैं। हम 12 बजे से 2:30 बजे तक अच्छी तरह से पढ़ाई में जुटे हुए थे। पहले तो सब सही चल रहा था लेकिन जैसे ही 2:30 बजे सबकुछ गलत होना शुरू हो गया था। हमने अचानक एक कुते की आवाज सुनी। उस समय गर्मिया होने के कारण, ठंड या भूख की वजह से कुत्ते का यू चिल्लाना सामान्य नहीं था क्योंकि यह हमारे एरिया के आसपास बहुत अधिक होते है। Horror Stories Hindi

इस चिल्लाहट के बारे में सबसे ज्यादा मजेदार बात यह थी कि यह सड़क के एक छोर से शुरू हुई और दूसरी तरफ चली गई, और, मुझे आपको याद दिलाने दो, यह केवल एक कुत्ते की चिल्लाहट थी। हम बस हमारे चारों ओर की ठंडी हवा को महसूस करने के लिए बाहर गए और यह विश्वास करना मुश्किल था कि हमारे कमरे के बाहर, मौसम काफी गर्म था Horror Stories Hindi

केवल हमारा कमरा ही असामान्य रूप से ठंडा था। हम अंदर गए और फिर से पढ़ना शुरू कर दिया, दरवाजे और खिड़कियां खुलीं थी। अचानक, पढ़ाई के बीच में अर्नव दास ने मेरे पीछे वाली खिड़की से बाहर देखने को कहा और हम खिड़की से बाहर घूरते रहे। ऐसा लगता है कि कोई वहां कोई खड़ा था और अर्नव को वो बुरी तरह से डरा रहा था। Horror Stories Hindi

उसकी आंखें पीली हो रही थीं और हम महसूस कर सकते थे कि उसके साथ कुछ गलत रहा था। मैंने बार-बार अर्नव से बात करने की कोशिश कि,की क्या हुआ और वह पूरी तरह से डर गया था। कुछ सेकंड बाद वह गिर गया जैसे किसी ने उसे धक्का दिया हो और उसकी आंखें बंद कर दीं हो। जब उसने अपनी आँखें खोली, तो मेरा विश्वास करो, मैं उन आंखों को देखकर मौत से डर गया। उसके पास आंखों की गोलियां नहीं थीं Horror Stories Hindi

उसके आँखों के गढे लाल नसों के साथ पीले पीले रंग के थे। उसका शरीर ठंडा था और वह बुरी तरह कांप रहा था। हमें समझ में नहीं आया कि क्या करना चाहिये और मैने मेरी माँ और पिता को फोन करने की कोशिश की, लेकिन ऐसा लग रहा था कि किसी ने हमें पूरी दुनिया से बाहर कर दिया था। हम चिल्ला रहे थे लेकिन व्यर्थ में। मैं लौहे की अलमारी में अपनी पीठ के साथ अर्नव के बगल में बैठा था। Horror Stories Hindi

आम तौर पर जब हम सांस छोडते हैं तो गर्म हवा निकलती है, लेकिन, जब अर्नव ने एक लंबी सांस छोडी, तो उसने मेरा बायां हाथ पर अपनी सांस छोड़ी तो मेरा हाथ ठंडा हो गया। जब मैंने अपने दाहिनी तरफ देखा, जहां मैंने अपने कपड़ो में से 3 लटकाए थे, तो मेंने लंबे-लंबे बालों वाली मध्यम आयु लगभग 45-55 वर्ष की महिला को देख सकता था। Horror Stories Hindi

उसके चहरे का कोई आकर ही नही था मैं उसका चेहरा अपने दिमाग मे नहीं बना पा रहा था। वह हम सभी के चारों ओर घूम रही थी लेकिन न ही उसने हमें कोई नुकसान पहुंचाया और न ही उसने हमसे कोई बात की। इसके अलावा, एक बहुत ही अजीब बात यह भी थी कि एक मच्छर भगाने वाली दवाई थी जो जल रही थी, वह बुझ चुकी थी जैसे किसी ने पानी पर फेंक दी हो । हम में से कोई भी अपनी जगह से नही हिला , इसलिए यह अजीब था। Horror Stories Hindi

अब, कुछ समय बाद, मुझे नहीं पता कि वो महिला मेरे बिस्तर के पास वाली खिड़की से बाहर जा रही थी।अब ऐसा लग रहा था कि कोई शक्ति हमारे पूरे घर को घेर रही थी और अब ठंडी हवा हमारे कमरे से बाहर जा रही थी, लेकिन हम महसूस कर सकते थे कि हवा हमारे घर के आसपास ही थी। मैंने इस बुरी ताकत से लड़ने की कोशिश की क्योंकि हमें अपनी परीक्षा के लिए अध्ययन करना था। Horror Stories Hindi

में अपनी जगह से उठकर पर्याप्त बहादुर होने का नाटक करते हुए, मैं मेरे कंप्यूटर पर गया। जब तक आप कोई बटन दबाएंगे तब तक कोई कंप्यूटर start स्क्रीन पर नहीं जा सकता है। मेरा कंप्यूटर शुरू हुआ और सीधे start हो गया,लेकिन फिर मॉनीटर दो बार फिसल गया और यह बंद हो गया। मैं खुद एक technical हूं इसलिए मुझे पता था कि यह सामान्य असफलता नहीं थी, उसी परिणाम के साथ तीन बार कोशिश की। Horror Stories Hindi

चौथी बार, यह सामान्य रूप से मेरी सामान्य डेस्कटॉप start हो गया। खैर, हम पूरी रात डरे हुए थे और मैंने सभी दरवाजे और खिड़कियां बंद कर दीं, हालांकि हम सभी निश्चित थे कि अब वह जो भी थी वो हमारे कमरे से बाहर थी, शायद, खिड़कियों को फिर से खोलने का इंतजार कर रहा था। धीरे-धीरे समय बीत गया और सुबह 5:30 बज रहे थे , खिड़की के माध्यम से मेरे कमरे में सूरज की रोशनी की पहली किरण चमक गई थी। Horror Stories Hindi

यह हमें एक और अजीब सदमा दिया। याद रखें मैंने आपको बताया था कि मच्छर का तार बाहर चला गया। जिस क्षण सूर्य की किरणें तार पर पहुंची, वह फिर से जलने लगी। हम अब उस घर से चले गए हैं और आज तक मैं उस अजीब या अलौकिक घर मे कभी भी नहीं गया … मेरा विश्वास करो … मैं मौत से बहुत ज्यादा डर गया था … मुझे नहीं पता था कि मेरे दोस्तों ने क्या किया … क्या आप मुझे बता सकते हैं कि क्या गलत हुआ? Horror Stories Hindi

दोस्तों आपको ये Horror Stories Hindi में केसी लगी और अगर आप भी चाहते है कि हम आपकी stories भी हमारी website पर डाले तो आप हमसे Contect कर सकते है एसी ही और सुच्ची और डरावनी कहानियों के लिए हमे subscribe करे

Read More :- 

horror stories in hindi,real ghost stories in hindi,ghost stories in hindi,real horror story in hindi,hindi horror stories,real horror stories in hindi,horror stories,5 selfie horror stories in hindi,real life horror stories in hindi,horror stories of selfies in hindi,ghost story in hindi,real selfie horror stories in hindi,5 real selfie horror stories in hindi

summry
Review Date
Reviewed Item
Horror Stories Hindi 2 सच्ची घटनाओं पर आधारित
Author Rating
51star1star1star1star1star
Previous articleReal Jinnat Ki Story – पेड़ पर जिन्नात
Hello दोस्तो हम यहाँ आप को ज्यादा से ज्यादा डराने की कोशिश करेंगे क्यो की हमारे पास horror stories भर भर कर मिलेगी हमारा मकसद आपको डरना ओर सिर्फ डराकर आप का मनोरंजन करना है Contact Us - horrorstoryinhindi76@gmail.com Thank you
SHARE

1 COMMENT

Leave a Reply