Chudail Stories – चुड़ैल ने ऐसा क्यो किया – India’s Best Chudail Stories

Chudail stories
Chudail stories

Hello dosto aaj main laya hu aap k liye ek esi Chudail ki story jisne mere ek dost ko apne maya jaal mai fs gaya tha lekin use kisina kisitrike se bcha liya gya or bhi esi Chudail stories k liye hme subscribe kijiye kyo ki hmare pass chudail stories ka bhandar hai to chaliye shuru krte hai

Chudail Stories – चुड़ैल ने ऐसा क्यो किया

Chudail stories
Chudail stories

मेरा नाम मनीष राम है और में छत्तीसगढ़ के बिलासपुर के पन्दरा नाम के गांव का रहने वाला हु मेरा गांव बिलासपुर से करीब 120 किलोमीटर दूर है में जो कहानी बताने जा रहा हु वो करीब आज से 17 साल पहले 2001 में हुआ था chudail, chudail stories

मेने ओर मेरी family ने डर के वो 13 दिन कैसे गुजारे थे ये बस हम ही जानते है आज भी जब में उन दिनों को याद करता हु तो मेरी रूह कांप जाती है उस घटना ने हमारे पूरे परिवार को हिलाकर रख दिया था

ये सब शुरू हुआ था 2001 की जनवरी से मेरे चाचा की एक बेटी थी जिसका नाम पूजा था उस वक्त वो 3 साल की थी अचानक उसकी तबीयत खराब हो गयी ओर धीरे धीरे उसका खाना पीना सब बन्द हो गया दिन भर बस रोती ही रहती थी क्या हो रहा है क्यों हो रहा है

हमे कुछ समझ नही आ रहा था ऐसा करते करते 20-25 दिन हो गए इस बीच हमने कई डॉक्टर को भी दिखाया लेकिन उससे भी कुछ नही हुआ एक दो दिन ठीक भी रहती लेकिन फिर से वैसी ही हो जाती

फिर हमने एक बाबा को दिखाया लेकिन उससे भी कुछ फर्क नही पड़ा धीरे धीरे उसकी हालत और खराब होती चली गयी अब बात सिर्फ उसकी तबीयत खराब होने तक नही थी रात में अचानक उठकर कहि चले जाना रात में सोते सोते अचानक चिल्लाना

ये सब शुरू हो गया था हमारे घर के आंगन में एक रात की रानी का छोटा सा पड़े लगा हुआ था ओर वो रात में हमेशा उस पड़े के पास खेलने की जिद करती थी ऐसे ही एक रात जब किसी की आँख खुली तो देखा कि वो वही उसी पड़े के पास खेल रही थी chudail

तब रात के 2 बज रहे थे हमे कुछ समझ नही आ रहा था की ये सब क्या हो रहा है कोई कहता कि इसको नजर लगी है तो कोई कहता कि इस पर किसी ने काल जादू कर दिया है हम उसको ठीक करने की हर कोई कोशिश कर रहे थे chudail, chudail stories

फिर एक बाबा ने सलाह दी कि इस बच्ची को इस घर से दूर ले जाओ नही तो इसकी हालत और खराब हो जाएगी फिर हम पूजा को अपने फूफा जी के घर ले गए उनका घर हमारे यह से बस 5-6 किलोमीटर हि दूर था हमे भी लग रहा था chudail chudail stories

कि शायद उस जगह से दूर जाकर उसकी तबीयत में शुधार आ जायेगा लेकिन चीज़े बिल्कुल वैसी की वैसी ही रही अब वो सूखती जा रही थी रात में उसका छीकने रोज की बात हो गयी थी ओर बस एक ही जिद लगाए रखती थी कि मुझे रात की रानी के पौधे के पास खेलना है chudail, chudail stories

बस हम लोग रात में सो भी नही पाते थे अब उसे भगवान के कमरे में जाना भी अच्छा कहि लगता था ओर शंख ओर पूजा की घंटी की आवाज से उसे तकलीफ होती थी अब हमें कुछ समझ आ गया था कि जरूर इस पर कोई ऊपरी चाकर ही है लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी chudail chudail stories

हमने एक बाबा को भी बुलाया ओर सारी चीजें भी करवाई जो सब हम करवा सकते थे लेकिन उससे भी कुछ नही हुआ फिर एक दोपहर वो इतने जोर से चीखी ओर 10 मिनट तक चीखती ही रही यहाँ तक की आस पास के लोगो ने भी उसकी चीखें सुनी थी

ओर उसकी चीख से पास में लगे पैड की टहनियां तक टूटने लगी थी शायेद आप लोग इस बात पर यकीन ना करें लेकिन ऐसा होते हुए मेने अपनी आँखों से देखा था लेकिन फिर वो उस चीख से साथ बिल्कुल संत हो गयी हमेशा हमेशा के लिए 21अप्रेल 2001 उसकी मौत हो गयी chudail stories chudail 

घर के सब लोग रोने लगे हम उसकी dead body को लेकर अपने घर वापिस आ गये ओर शयाम होते होते बच्ची का क्रियाक्रम भी कर दिया बच्ची बहोत तकलीफ में थी चली गयी सबको लगा की अब सब ठीक हो गया है chudail chudail stories

लेकिन यही हमारी सबसे बड़ी गलत फेमी थी डर का तो वो भयानक मंज़र अभी शुरू होनर वाला था ओर अब शुरू होते है डर के वो 13 भयानक दिन आप शायद यकीन ना करे लेकि ये कहानी भेजते हुए अभी मेरा रोम रोम खड़ा हैं chudail stories

पूजा की मौत के बाद सब घर पर ही थे रात में घर मे बहोत उदासी वाला माहौल था ऐसे ही रात के 11 बज गए तभी हमे ऊपर किसी के चलने की आवाज आई जैसे कि कोई छोटी बच्ची खेल रही हो ओर फिर वो आवाज लगती है chudail chudail stories

मम्मी-मम्मी आप यकीन मानो इतना सुनते ही हमारे तो होश उड़ गए ओर तभी वहाँ पर दो लोगो के चलने की आवाज आने लगी लेकिन दूसरी आवाज किसी बड़े इंसान के पैरों की थी आवाज पूरी रात आती रही किसी को कुछ समझ नही आ रहा था chudail stories

लेकिन फिर सुबह होते होते 3:30-4:00 बजे तक आवाज आना बंद हो गयी गांव में सब लोग सुबह जल्दी ही उठ जाते है अगली रात फिर से वही चलने की आवाज आने लगी अब ये रोज की ही बात हो गयी थी रात में चलने ,खेलने ,चिल्लाने की आवाजें आती

हम सब लोग बहुत डर गए थे हमे अपने ही घर मे डर लगने लगा था एक रात चाचा-चाची को वो बच्ची साफ साफ दिखाई दी लेकिन वो अकेली नही थी उसके साथ एक औरत की परछाई भी थी chudail chudail stories 

हँसते हुए सुबह ये बात उन्होंने सब को बताई इसी बीच उनके छोटे बेटे की भी तबीयत खराब होने लगी थी उसकी age उस समय 1-1/5 साल ही थी हमे समझ आ गया था कि डॉक्टर कुछ नही कर पाएंगे फिर किसी ने एक बाबा को बुलाया वो बाबा हमेशा रात में ही आया करते थे 8-9 बजे ओर 17 साल पहले रात के 8-9 बजे का मतलब है chudail chudail stories 

कि आज के 12-1 बजे वो घर मे आये तो हमने शुरु से लेकर अब तक कि सारी बात उन्हें बताई जो जो हुआ था सब कुछवो घर मे घूम घूमकर देखने लगे ओर घूमते हुए उसी रात की रानी के पेड़ के पास आकर रुक गए वहाँ से उन्होंने एक फूल तोड़ा ओर कुर्सी पर आकर आँख बंद कर के बैठ गए chudail chudail stories

फिर 10 मिनट बाद उन्होंने आँख खोली ओर जो उन्होंने हमें बताया हमे तो उस पर यकीन ही नही हुआ उन्होंने बोलै की आपको पता है कि आपके यहा ये जो पेड़ है इसके फूलों की खुशबू कितनी दूर तक जाती है ओर अब इस पेड़ पर एक chudail का बसेरा हो गया है वो चुड़ैल इसी पेड़ पर ही रहती है chudail

इसीलिए वो बच्ची भी यही खेलने की जिद करती थी ओर ऐसी वजह से ये सब हुआ है ओर अब वो chudail इसके छोटे भाई को भी मार डालेगी इतना सुनते ही चाची जोर जोर से रोने लगी बोली कि एक को तो वो ले गयी अब कम से कम इसे तो वो छोड़ दे उन्होंने इतना बोलै ही था तभी वो पेड़ जोर जोर से हिलने लगा हम सब बहुत डर गए फिर बाबा ने कुछ मंत्र पढ़े जिस से वो पेड़ शांत हो गया chudail

उन्होंने कहा कि अब में कल आऊँगा लेकि अगली रात वो चुड़ैल उन्हें गांव में घुसने ही नही दे रही थी कभी सांप बनकर उनको भगा रही थी तो कभी कुछ और लेकिन वो फिर भी डेली पूजा करते रहे जब तक वो घर मे होते सब कुछ ठीक रहता chudail chudail stories

लेकिन उनके जाते ही फिर से वही सब शुरू हो जाता कभी कोई बच्चा चाचा के कानों में पाप कह कर भाग जाता तो कभी उस चुड़ैल की हंसती हुई परछाई दिखाई दे जाती उस समय ऐसा लग रहा था कि हम सब कुछ छोड़ के वहा से भाग जाए पर ये मुमकिन नही था chudail chudail stories

फिर एक रात चाची toilet के लिए घर से बाहर गयी लेकिन फिर जब वो काफी देर तक वापिस नही आई तो चाचा ने वहा जाकर देखा वो उनको बाहर बेहोश पड़ी मिली चाची ने बताया कि वो चुड़ैल उनके पास आई थी chudail stories

उनसे बोली कि वो उनके दूसरे बच्चे को भी ले जायेगी चाची डर के मारे बेहोश हो गयी इसी बीच वो बाबा भी वह आ गये उन्होंने कहा कि हमे इस पेड़ को ही काटना होगा और आज उस बच्ची को में यहां से बाहर निकलने की कोशिश करूंगा chudail stories

उनके कहे अनुसार हम पेड़ काटने लगे लेकिन पेड़ कट ही नही रहा था में शब्दों में बयान नही कर सकता लेकिन पेड़ काटते वक्त तरह तरह की आवाजें आ रही थी कसम से उस वक्त हमारा पूरा घर रो रहा था पागल कर देने वाली आवाजे चारो तरफ से आ रही थी

ओर फिर मन्त्रों की मदद से ओर बहोत मुश्किल से हमने उस पेड़ को काट दिया ओर उस बच्ची को घर से बाहर भेज गया हम साफ साफ उस चुड़ैल को जाते हुए देख सकते थे लेकिन हम कुछ नही कर सकते थे उसने हमारे साथ ऐसा क्यों किया हम नही जानते किसी फूल की खुशबू इतना नुकसान कर सकती है हम नही जानते थे आज घर पर सब ठीक है वो बच्चा भी बड़ा हो चुका है ओर अब बिल्कुल ठीक है chudail

 

C.               hudail Story 2

Chudail Stories:- ye pichle saal ki hai jub hum sub ek mele main ja rhe the ye mela hr saal lgta h or yha door door se log pedal chlkr aate he hanuman ji ke dersan krne aaya krte hai hum bhi us mele main hi ja rhe the hum sub 5 dost the or bhut mje krte huve ja rhe the or humne aadhe se jyada rasta tay kr liya tha tbhi mere ek dost ko toilet jane ki jrurt mehsus hui us dost ka naam tha mehash or vo hum sub me sub se chota tha

Ye Bhi Padhe

Hum jis raste se ja rhe the vo rasta pura hi kacha rasta tha matlab ki us raste pr mitti hi mitti thi thodi der bad jub mehash lot kr aaya uske bad se uska bartav bhut hi change ho gya kisi se bhi vo shi se baat nhi kr rha tha hum sub dosto ne jyada dhyan na dete huve hum sub ek dusre ki tang khich rhe the

Subscribe Us For More Chudail Stories

Chudail Stories:- Lekin pta nhi thodi dur jane k bad pta nhi sub log kha chle gye jo sbhi hmare jese us mele ki trf ja rhe the hum us raste pr akle hi the or koi bhi door door tk nejer nhi aarha tha hum sub bhut hi dr gye or humne socha ki hum rasta bhtk gye h lekin mere ek dost n btaya ki

vo rasta ekdm shi h vo phle bhi iss raste se kyi baar mele ja chuka hai Hum sub ne diside kiya ki hum chlte rhe shyam ho gyi thi or raat hone m bhi kuch hi time tha or abhi tk hume koi nhi dikhi diya hum sub puri raat chlne vale the hmare pass thoda sa khana tha jo hum

ne piche ek thele me free m bant rhe the un se liya tha hum sub ne khana khaya or thoda aaram krne k baad fir chlna shuru kiya raat ke 10 bej chuke the or hum us raste pr abhi tk akele hi the bhut ajibe leg rha tha Lekin fir humne gor kiya ki hmara dost mehash toilet

krke ane ke baad se hi kisi se kuch nhi bol rha tha or sirf chle ja rha tha or hume us mahol me ek ajibe si ghutan mehsus ho rhi thi or bhut hi jyada mnhusiyt thi thodi der bad mujhe ghurrane ki aavaj aayi mene socha ki koi junglei jaanwar hoga lekin vo aavaj mere dost se aarhi thi or vo aavaj sub dosto ne suni thi

Subscribe Us For More Chudail Stories

Chudail Stories:- Hum ne mehash se kha ki ye kya janwaro ki aavaje nikal rha hai lekin vo kuch nhi bola or bus gurraye ja rha tha uski aakhen puri kaali ho chuki thi mera ek dost bhoot prat ko manta bhi tha or bhut hi dharmik tha use pta chl gya ki ye kisi ki chpet me aagya h usne

btaya ki ese kisi tantrik k pass lekr jana hoga Tbhi mera ek dost raj bola ki esa mere gav lekr chlte h or vha ek nhi bhut sare tantrik mil jayge jo hmari help krege uska gav pass hi tha jiska naam tha dungar garh Hum uske gav pahuche or kuch der humne rest kiya

vhaa uska ek ghar tha jha uske dadaji or dadiji or tawji ki family rha krti thi Vhaa jate hi humne aaspaas k logo se tantrik k bare m pucha to uske ghar k pass k ek chacha ji ne btaya ki ek bhut bade tantrik h jo tumhari help kr skte hai unka naam tha kishori dass ji maharaj

unke naam se hi lg rha tha ki vo ek bhut bade tantrik hai Humne diside kiya ki hum us ko subhe hi lekr jayge unke pass subhe hum sub teyer ho gye or hum ne mehash ko kuch nhi btaya tha ki hum kha ja rhe h humne bola ki hum kheto me ghumne ja rhe h khet me ek barged ka ped tha jha vo baba apni sadhna kiya krte the vha unke do or shisye the jinhone mehash ko dekhte hi pkd liya

Subscribe Us For More Chudail Stories

Chudail Stories:- Or jub hum sub unke pass pahuche to unhone hume kuch nhi pucha or vo apni pooja ki teyari krne lge humne hi pucha ki kya baba aap ko sub kuch pta h baba bole haa muje sub kuch pta h tum sbhi k bare me baba bole ki es pr kisi takatvar chudail ka saya

aagya h or us chudail ko y bahut jayada psnd h vo ese apne dur nhi krna chahti Jub ye toilet kr k lot rha tha tub us chudail ki njer es pr pdi or vo es pr mohit ho gyi ese bchana ka ek hi trika h ese us k sath saat din tk rooj sambhog krna hoga or saatve din jub us chudail

ki shakti kum ho jaygi tub hum hs pr vaar kr ke tumhare dost ko bcha payege or baba n ek tabij mehash k hath pr bandh diya taki vo chudail mehash pr havi na ho paye Or subhi dosto ne mehash ko ache se sub kuch smjha diya ki usko kya krna h usne saat din lgatar

us chudail k sath sambhog kiya or saatve din baba ne btaya ki us chudail k kuch ball todkr lana or dhyan rhe ki us chudail ko pta n leg paye mehash ne vesa hi kiya or mehash ball lekr sidha baba k pass

gya or baba ne apne mntro ka jap kr ek lal kpde me Or subhi dosto ne mehash ko ache se sub kuch smjha diya ki usko kya krna h usne saat din lgatar us chudail k sath sambhog kiya or saatve din baba ne btaya ki us chudail k kuch ball todkr lana or

Subscribe Us For More Chudail Stories

Chudail Stories:- dhyan rhe ki us chudail ko pta n leg paye mehash ne vesa hi kiya or mehash ball lekr sidha baba k pass gya or baba ne apne mntro ka jap kr ek lal kpde me abhimntrit kr us k ball se us chudail ko apna

gulam bnaa liya Mere dost k sath esa phle kbhi nhi huaa tha vo ye sub kuch jankr bhut presan tha ki ab to vo kuch nhi kregi mera kyo ki vo hum sub m sub se chota tha or thoda darpok bhi tha esiliye khte h ki si bhi anjan jghe pr toilet nhi krna cahiye es ghatna m to

humra ya hmare kisi bhi dost ka koi nukshan nhi huaa laki dosto ye bate aap ko hmesa dhyan rakhni cahiye Khi esa na ho ki es baar aapki bari ho or hmesa ek mantr jrur rkhe m koi tantrik nhi hu

ye baate mujhe un baba n btai thi ager aap ki ye khani achi lgi ho to plz or bhi esi hi suchi or dravni Chudail Stories k liye hume subscribe kijiye or ager aap k pass bhi koi khani he to aap hume share kr skte hai hum apne dosto k liye aap ki khani bhi jrur likhege

Thankyou

Content Us – horrorstoryinhindi76@gmail.com

summry
Review Date
Reviewed Item
Chudail Stories - चुड़ैल ने ऐसा क्यो किया
Author Rating
41star1star1star1stargray
REVIEW OVERVIEW
Rahul
Previous articleHorror Story In Hindi गरीब की आपबीती
Next articleChudail Stories – भूतिया रास्ते की चुड़ैल
Hello दोस्तो हम यहाँ आप को ज्यादा से ज्यादा डराने की कोशिश करेंगे क्यो की हमारे पास horror stories भर भर कर मिलेगी हमारा मकसद आपको डरना ओर सिर्फ डराकर आप का मनोरंजन करना है Contact Us - horrorstoryinhindi76@gmail.com Thank you
SHARE

1 COMMENT

Leave a Reply